न्यूयॉर्क। संयुक्त राष्ट्र ने अपने अगले साल के वार्षिक बजट में 28.6 करोड़ डॉलर की ऐतिहासिक कटौती की है। यह उसके खर्च में पांच प्रतिशत कटौती के बराबर है। यह जानकारी बुधवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

इंटरनेट में खूब वायरल हो रहा है अनुष्का शर्मा का ये गाना, क्या आपने सुना

संयुक्त राष्ट्र में सर्वाधिक वित्तीय योगदान देने वाला अमेरिका ने वैश्विक संस्था के अगले वर्ष के बजट में कटौती करने के लिए बातचीत की थी।

संयुक्त राष्ट्र ने एक बयान में कहा कि रविवार को महासभा ने 2018-2019 के लिए 5.397 अरब डॉलर के वार्षिक बजट को पारित कर दिया। यह राशि वर्ष 2016-17 के लिए मान्य बजट से लगभग पांच प्रतिशत यानी 28.6 करोड़ डॉलर कम है।

संयुक्त राष्ट्र ने एक बयान में कहा कि यह कटौती अधिकतर विभागों और कार्यालयों में ‘नॉन-पोस्ट रिसोर्सेज’ को घटाने से हुई है। इसमें विशेष राजनैतिक मिशन भी शामिल हैं। साल 2018-19 के लिए कुल मान्य पदों की संख्या 9959 है जो 2016-17 के स्वीकृत पदों से 131 कम है।

संयुक्त राष्ट्र के इस बजट में कटौती का श्रेय लेते हुए संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने कहा कि उन्होंने 2016-17 के अंतिम बजट में 28.5 करोड़ डॉलर की कटौती के लिए बातचीत की थी।

उन्होंने एक बयान में कहा, “ इस महत्वपूर्ण कटौती की वजह हमारा संयुक्त राष्ट्र के प्रबंधन बोझ को कम करना और कार्य को तवज्जो देना रही है। साथ ही संयुक्त राष्ट्र की प्रणाली को अधिक अनुशासित और जिम्मेवार बनाना भी हमारी कोशिश है। संयुक्त राष्ट्र की फिजूलखर्ची और अक्षमता के बारे में सब जानते हैं और हम अमेरिका के लोगों की इस दयालुता को बिना किसी नियंत्रण के जारी नहीं रख सकते हैं।”

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता ने पुष्टि की है कि महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने कटौती को मंजूरी दे दी है। हालांकि यह कटौती महासचिव द्वारा महासभा में की गई घोषण से 8.5 करोड़ डॉलर अधिक है।

प्रियंका चोपड़ा ने इंडस्ट्री में होते शोषण के बारें में कही ये बड़ी बात

अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र बजट कटौती व दरफुर तथा हैती के बजट को समायोजित करने के मुद्दे पर राजी थे। हालांकि इस कटौती का लीबिया, यमन, इराक, अफगानिस्तान कोलंबिया में संयुक्त राष्ट्र मिशन और म्यांमार के लिए विशेष दूत के वित्त पोषण पर इसका असर नहीं पड़ेगा।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here