कोलकाता। भाजपा युवा मोर्चा की रैली पर हमले की घटना को लेकर राज्य में राजनीतिक हलचल के बीच कलकत्ता हाईकोर्ट ने कहा है कि यदि राज्य सरकार कानून व्यवस्था संभालने में नाकाम रही तो वैकल्पिक व्यवस्था के बारे में विचार किया जाएगा।

घटना के बाद भाजपा ने कलकत्ता हाईकोर्ट के अस्थायी मुख्य न्यायाधीश ज्योतिर्मय भट्टाचार्जी के बेंच में शिकायत कर अदालत को बताया कि राज्य सरकार भाजपा युवा मोर्चा की रैली में सुरक्षा देने में पूरी तरह असमर्थ रही। भाजपा की दलील सुनने के बाद अदालत ने कहा राज्य सरकार रैली को लेकर कानून व्यवस्था को लेकर पूरी तरह नाकाम रही। इस बारे में वैकल्पिक रास्ते तलाशने होंगे।

दूसरी ओर राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त एड्वोकेट जनरल अभ्रतोष मजूमदार ने बताया कि घटना की वीडियो में आपत्तिजनक कुछ नहीं दिखाई दे रहा है। इस पर अदालत ने गुरुवार की रैली का रोड मैप शुक्रवार को ही जमा करने का हुक्म दिया। इसके बाद उन्होंने पूछा ऐसे में क्या राज्य सरकार शांतिपूर्ण तरीके से रैली संपन्न करा पाएगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो डिवीजन बेंच कोई वैकल्पिक रास्ता तलाशेगा।

इसके बाद एड्वोकेट जनरल किशोर दत्त ने कहा कि रैली को लेकर कोर्ट की ओर से नियुक्त स्पेशल अफसर के साथ भाजपा नेता मुकुल रॉय क्या कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बाहरी लोगों के शामिल होने से वह रैली नहीं रह जाती। इस पर अदालत ने कहा कि रैली में कौन-कौन शामिल होंगे यह अदालत तय नहीं की थी। इसके बाद अदालत ने शुक्रवार की रैली को स्थगित रखने का निर्देश दिया। इसके साथ ही अदालत ने शनिवार की रैली का रोड मैप शुक्रवार को ही जमा देने का निर्देश दिया।

इसके बावजूद राज्य सरकार कानून व्यवस्था मुहैया करने में व्यर्थ रही तो वैकल्पिक इंतजाम के बारे में सोचा जाएगा। हाईकोर्ट द्वारा नियुक्त स्पेशल अफसर ने कोर्ट को बताया कि शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे वे जोड़ाबागान पहुंचे। उनके वाहन के आगे व पीछे पुलिस वैन थे। बावजूद इसके करीब 11 बजे मो अली पार्क के निकट बदमाशों ने उसकी गाड़ी के सामने का शीशा तोड़ दिया। इसके बाद अदालत ने रैली की सुरक्षा के दायित्व संभालने वाले स्पेशल ऑफिसर को अदालत बुलाया। कयास लगाए जा रहे है उन्हें इस दायित्व से हटाया जा सकता है। कुछ देर बाद अतिरिक्त पुलिस आयुक्त विशाल गर्ग भी वहां पहुंचे। दूसरी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष को फोनकर शुक्रवार की घटना की जानकारी ली। इसके दो घंटे के बाद भाजपा कार्यालय पर हुए हमले की रिपोर्ट एवं वीडियो केंद्रीय कार्यालय दिल्ली भेजा गया।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here