तरनतारन। कुलभूषण जाधव की मुलाकात के मौके पर उनकी मां और पत्नी के साथ पाक द्वारा घटिया व्यवहार किए जाने के बाद यह सामने आया है कि पाकिस्तान लोकतंत्र का मजाक उड़ा रहा है। पाकिस्तान के खिलाफ यूएनओ को कार्रवाई करनी चाहिए ताकि जो वहां की जेलों में बंद भारतीय कैदियों को सुरक्षित रिहा करवाया जा सके। यह कहना है 1971 की जंग के कैदी बलविंदर सिंह की बेटी बलजिंदर कौर चम्बा का।

अमिताभ बच्चन ने स्वच्छता को ध्यान में रखकर उठाया बड़ा कदम, भेंट किया खुदाई मशीन और ट्रैक्टर

मीडिया के साथ बातचीत दौरान उन्होंने यहां कहा कि विदेश मंत्रालय द्वारा 25 जुलाई, 2017 को खुलासा किया गया था कि 1965 और 1971 की जंग दौरान 74 भारतीय सैनिकों को पाकिस्तान द्वारा बंदी बनाकर रखा गया है। इन सैनिकों की रिहाई के लिए जब भी आवाज उठाई जाती है तो भारत सरकार कहती है कि पाकिस्तान के साथ संबंध सुधरते ही जंगी कैदियों की रिहाई का मामला उठाया जाएगा। बलजिंदर कौर ने कहा कि पाकिस्तान के नापाक इरादों से भारत को चौकस रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरबजीत सिंह की शहादत को याद रखते हुए कुलभूषण जाधव की रिहाई सुनिश्चित की जानी चाहिए।

ये तीन बड़े बदलावों के बाद रिलीज होगी फिल्म ‘पद्मावती’

उन्होंने कहा कि 1965 और 1971 की जंग के दौरान पाकिस्तान द्वारा जिन 74 भारतीय सैनिकों को बंधक बनाया गया है, उनकी रिहाई के लिए पाकिस्तान पर अभी से दबाव बनाना चाहिए क्योंकि पाकिस्तान की नीयत पर कभी भी भरोसा नहीं किया जा सकता। बलजिंदर कौर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पत्र लिखकर कहा कि पाकिस्तान के साथ कभी भी संबंध बेहतर होने की उम्मीद नहीं रखी जा सकती।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here