लखनऊ। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह उत्तर प्रदेश के नये पुलिस महानिदेशक होंगे। वह वर्तमान पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह का स्थान लेंगे। श्री सिंह रविवार को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: नया साल मनाने राहुल पहुंचे गोवा, मां के साथ मनाएंगे नया साल

ओपी सिंह 1983 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। मूल रुप से वह बिहार में गया के रहने वाले हैं। उन्हें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का करीबी अधिकारी माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: राज्यसभा चुनाव : संजय पर मंजूरी, विश्वास पर तकरार जारी

प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) कानून एवं व्यवस्था आनन्द कुमार ने बताया कि नवनियुक्त पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह फिलहाल अभी चेन्नई में हैं। वह वहां से नई दिल्ली जायेंगे और सीआईएसएफ से कार्यमुक्त होने के बाद राजधानी लखनऊ पहुंचकर अपना कार्यभार ग्रहण करेंगे। तब तक एडीजी कानून एवं व्यवस्था आनन्द कुमार ही पुलिस महानिदेशक का कामकाज देख सकते हैं, क्योंकि सुलखान सिंह आज ही सेवानिवृत्त हो जायेंगे।
गौरतलब है कि सुलखान सिंह का कार्यकाल तीन माह पहले ही समाप्त हो गया था, लेकिन, सरकार के अनुमोदन पर केंद्र ने उन्हें तीन माह का सेवा विस्तार दे दिया था। चर्चा थी कि उन्हें एक बार और सेवा विस्तार मिलेगा, लेकिन ऐसा न हो सका। इस स्थिति में श्री सिंह आज सेवानिवृत्त हो जायेंगे।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के लिए बेहद खास रहा वर्ष 2017

इस बीच प्रदेश के नये पुलिस महानिदेशक को लेकर पिछले कई दिनों से राजधानी में तरह-तरह की अटकलें चलती रहीं। प्रदेश पुलिस मुखिया के पद के लिए प्रवीण सिंह, भावेश कुमार, हितेश अवस्थी, डॉ सुरेश कुमार सिंह के नाम चर्चा में आये, लेकिन रविवार को सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ओम प्रकाश सिंह को प्रदेश का नया पुलिस महानिदेशक नियुक्त कर दिया।

इसे भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस पर इस बार एक नहीं 10 मुख्य अतिथि होंगे शामिल: पीएम मोदी

बिहार के नाता रखते हैं नये डीजीपी

ओम प्रकाश सिंह का जन्म 20 जनवरी 1960 को बिहार के गया में हुआ था। इनके पिता का नाम शिव धरि सिंह है। वह राजनति विज्ञान में स्नातकोत्तर हैं। वह प्रदेश के कई जिलों में विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके हैं। लखनऊ और इलाहाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के अलावा आजमगढ़ एवं मुरादाबाद के अपर पुलिस महानिदेशक और मेरठ में पुलिस महानिदेशक भी रहे।

इसे भी पढ़ें: गोरखपुर में दो दिनों तक रहेंगे मुख्यमंत्री योगी, जनकल्याणकारी योजनाओं की करेंगे शुरुआत

नब्बे के दशक में ओपी सिंह इलाहाबाद में अर्ध कुम्भ मेले के भी पुलिस प्रमुख रहे हैं। अर्ध कुम्भ में उत्कृष्ट सेवा के लिए उन्हें राज्य सरकार द्वारा सम्मानित भी किया गया था। लखनऊ में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रहते हुए उन्होंने शिया और सुन्नी के बीच लंबे समय से चले आ रहे विवादों को दूर किया था। ओपी सिंह को केंद्र सरकार द्वारा भी कई बार विभिन्न पदकों से सम्मानित किया जा चुका है।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here