रांची। सिविल कोर्ट के अधिवक्ता बिंदेश्वरी पाठक के निधन के कारण सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने लालू के सजा के बिंदु पर सुनवाई बुधवार को टाल दी। अब गुरुवार को 2:00 बजे से सुनवाई होगी।

Oppo F3 की कीमत में हुई कटौती, ये है नई कीमत

गौरतलब है कि चारा घोटाला का यह मामला देवघर कोषागार से 89 लाख रुपए की अवैध निकासी से जुड़ा है। मामले में 23 दिसम्बर को लालू समेत 16 अभियुक्तों को दोषी करार दिया गया था। शेष 6 लोगों को कोर्ट ने बरी कर दिया था। इस पर आज फैसला सुनाया जाना था लेकिन अब यह कल तक के लिए मुल्तवी कर दिया गया।

इससे पहले उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद आदतन अपराधी और जेल यात्री हैं, जो कभी सुधरने वाले नहीं हैं। चारा घोटाले में एक बार सजा होने के बाद भी हजार करोड़ की बेनामी सम्पत्ति एकत्र कर ली है | किसी को बरी करना या सजा देना कोर्ट का काम है।

साल 2017 में इन कारों का हुआ अंत

सुशील मोदी ने राजद के जातीय आधार पर सजा के आरोप को इनकार करते हुए कहा कि कोर्ट जाति देखकर सजा नहीं देती है। जातीय कार्ड काफी पुराना हो चुका है और अब बिहार काफी आगे निकल चुका है। तथ्यों व सबूतों के आधार पर चारा घोटाले के दूसरे मामले में दोषी करार दिए गए लालू प्रसाद को कड़ी सजा ही मिलने की संभावना है।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here