पुलवामा। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर पर फिदायीन हमले से अब तक पांच सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए हैं जबकि तीन घायाल है।

पटना के नए डीएम बने कुमार रवि

वहीं सुरक्षा बलों ने अभी तक दो आतंकियों को मार गिराया है। इस हमले के बारे में सीआरपीएफ के एडिशनल डीजी ने कहा है कि उनके पास इस हमले होने के इनपुट्स पहले ही मौजूद थे। वहीं ऐसे में सवाल ये उठता है कि जब आतंकी हमले की आशंका पहले से ही मालूम थी तो इतने बड़े हमले को कैसे अंजाम दिया गया।

ऑपरेशन ऑल आउट से बौखलाए आतंकवादियों ने साल 2017 के आखिरी दिन जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पठानकोट एयरबेस की तर्ज पर इस बड़े हमले को अंजाम दिया।

नए साल की शुरुआत हुई घने कोहरे से, दिल्ली एयरपोर्ट पर ऑपरेशन सस्पेंड

आपको बता दें कि सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर में रविवार तड़के दो बजे घुसे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने जबरदस्त फायरिंग शुरू कर दी। इसके जवाब में सुरक्षा बलों ने तुरंत मोर्चा संभाला और मुठभेड़ शुरू हो गई। फिलहाल ऑपरेशन अभी भी जारी है।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here