नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने नवंबर, 2017 तक भारत सरकार के मासिक परिव्यय का संग्रहण किया है, जिसमें नवम्बर तक 8 लाख 66 हजार 710 करोड़ रुपये की कमाई दर्ज की गई। वहीं सरकार का 14 लाख 78 हजार 815 करोड़ रुपये व्यय हुआ।

ये तीन बड़े बदलावों के बाद रिलीज होगी फिल्म ‘पद्मावती’

भारत सरकार ने नवंबर, 2017 तक 8 लाख 66 हजार 710 करोड़ रुपये (पिछले बीई 2017-18 की कुल प्राप्तियों का 54.2 प्रतिशत) की प्राप्ति की है। इसमें कर राजस्व 6 लाख 99 हजार 392 करोड़ रुपये, गैर कर राजस्व से 1 लाख 05 हजार 469 करोड़ रुपये तथा गैर ऋण पूंजी प्राप्तियों से 61 हजार 849 करोड़ रुपये शामिल हैं। गैर ऋण पूंजी प्राप्तियों में ऋणों की उगाही से प्राप्त (9 हजार 471 करोड़ रुपये) तथा सार्वजनिक प्रतिष्ठानों के विनिवेश से प्राप्त 52 हजार 378 करोड़ रुपये शामिल हैं।

इस अवधि में भारत सरकार द्वारा करों के हिस्से को विकेन्द्रित करने से राज्य सरकारों को 3 लाख 85 हजार 268 करोड़ रुपये का अंतरण हुआ। भारत सरकार द्वारा 14 लाख 78 हजार 815 करोड़ रुपये (पिछले बीई 2017-18 का 68.9 प्रतिशत) का कुल व्यय किया गया है।

अमिताभ बच्चन ने स्वच्छता को ध्यान में रखकर उठाया बड़ा कदम, भेंट किया खुदाई मशीन और ट्रैक्टर

इसमें से 12 लाख 94 हजार 700 करोड़ रुपये राजस्व खाते में किया गया और 1 लाख 84 हजार 115 करोड़ रुपये पूंजी खाते में है। कुल राजस्व व्यय में से 3 लाख 09 हजार 799 करोड़ रुपये ब्याज भुगतान खाते में तथा 2 लाख 06 हजार 068 करोड़ रुपये प्रमुख सब्सिडी खाते में है।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here