नई दिल्ली। वाणिज्‍य सचिव रीता तेवतिया ने शुक्रवार को नई दिल्‍ली में इंडिया के ई-कैटलॉग को लांच किया। ईईपीसी इंडिया के तत्‍वावधान में इंजीनियरिंग उत्‍पादों के निर्यात को प्रोत्‍साहन देने के लिए यह एक डिजिटल कार्यक्रम है। ‘ब्रांड इंडिया’ पहल के अंतर्गत डिजिटल तकनीक के माध्‍यम से प्रमुख निर्यात स्‍थलों तक पहुंचने का प्रयास किया गया है।

मोटोरोला ने दिया नए साल का तोहफा, Moto G5S Plus के दामों में की कटौती

वाणिज्‍य सचिव रीता तेवतिया ने ई-कैटलॉग को लांच करते हुए कहा कि ई-कैटलॉग अन्‍य निर्यात संवर्धन परिषदों के लिए एक मॉडल हो सकता है। ई-कैटलॉग में चिकित्‍सा उपकरण, वस्‍त्र मशीनरी और सहायक उपकरण, विद्युत मशीनरी व उपकरण, पम्‍प और वाल्‍व शामिल हैं। वाणिज्‍य सचिव ने कहा कि इंजीनियरिंग उत्‍पाद निर्माण में लगी अन्‍य कंपनियों को भी इस ई-कैटलॉग का हिस्‍सा बनना चाहिए। लैपटॉप, टैबलेट और मोबाइल फोन पर ई-कैटलॉग का उपयोग किया जा सकता है। दुनिया के किसी भी हिस्‍से में रहने वाला व्‍यक्ति इसके नगर आधारित उन्‍नत खोज, एंड यूज़ प्रक्षेत्र, प्रमाण पत्र व उत्‍पाद श्रेणी जैसे फीचर्स का उपयोग कर सकता है।

ई-कैटलॉग के द्वारा किसी कंपनी का प्रोफाइल डाउनलोड किया जा सकता है। ईईपीसी इंडिया विश्‍वस्‍तरीय इंजीनियरिंग प्रदर्शनियों में विशेष कियोस्‍क की व्‍यवस्‍था करेगा, ताकि विदेशी क्रेताओं को जानकारियां उपलब्‍ध कराई जा सकें, मीडिया में प्रचार किया जा सके और डिजिटल प्रोत्‍साहन उपलब्‍ध कराया जा सके।

2017 की दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी ‘टाइगर जिंदा है’

ईईपीसी इंडिया के अध्‍यक्ष रवि पी. सहगल ने कहा कि ब्रांड इंडिया डिजिटल कार्यक्रम के सहयोग से वस्‍त्र इंजीनियरिंग समेत अन्‍य क्षेत्रों को प्रोत्‍साहन दिया जाना चाहिए। भारत में, चीन के बाद विश्‍व के सबसे बड़े विनिर्माण केन्‍द्र बनने की क्षमता है।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here