Supreme Court

भुवनेश्वर। सुंदरगढ़ से कांग्रेस विधायक योगेश सिंह को सुप्रीम कोर्ट ने राहत देते हुए हाइकोर्ट द्वारा उनके विधानसभा की सदस्यता पद को रद्द करने संबंधी निर्णय पर रोक लगा दी गई। फिलहाल वह विधायक पद पर बने रहेंगे।

इसे भी पढ़ें: अगस्ता मामला : छत्तीसगढ़ सरकार के खिलाफ एसआईटी जांच की मांग संबंधी याचिका खारिज

फर्जी जाति प्रमाण पत्र को लेकर एक मामले की सुनवाई करते हुए ओडिशा उच्च न्यायालय ने विधायक योगेश सिंह की सदस्यता खारिज कर दी थी। हाईकोर्ट के इस निर्णय के खिलाफ योगेश सिंह ने सुप्रीमकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने योगेश सिंह को राहत दी।

इसे भी पढ़ें: महाशिवरात्रि पर्व पर राजधानी के शिव मंदिरों में लगे जय भोले के जयकारे

पत्रकारों को जानकारी देते हुए योगेश सिंह के वकील ने कहा कि कटक उच्च न्यायालय ने सुंदरगढ़ के विधायक को अनुसूचित जनजाति वर्ग का होने के प्रमाण नहीं उपलब्ध होने पर उनकी सदस्यता को रद्द कर दिया था। मगर सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सिकरी एवं अशोक भूषण की खंडपीठ ने इस मामले की सुनवाई करते हुए हाइकोर्ट के निर्णय को खारिज करते हुए इस पर रोक लगा दी है। भाजपा प्रत्याशी सहदेव खाखा व एक मतदाता अजय पटेल ने सिंह की सदस्यता को रद्द करने के लिए दो अलग-अलग याचिकाएं दायर की थी। 

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here