नई दिल्ली। केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना तकनीक और पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) अल्फोंस कन्नौथम ने आज विद्यार्थी विज्ञान मंथन ( वीवीएम ) एप लॉन्च किया। यहां मंगलवार को नेशनल मीडिया सेंटर में आयोजित एक कार्यक्रम में विज्ञान भारती के राष्ट्रीय महासचिव जयकुमार के साथ अल्फोन्स ने इसे जारी किया।

क्रिकेट मैच की मेजबानी को लेकर यूपीसीए से ज्यादा सक्रिय हैं खेल मंत्री

अल्फोंस ने कहा कि इसके माध्यम से विज्ञान तक हर व्यक्ति की पहुंच सुनिश्चित होगी। इससे विज्ञान में गहरी दिलचस्पी लेने वाले मेधावी छात्रों को सहायता मिलेगी। इसके लिए नेशनल साइंस टैलेंट सर्च विद्यार्थी विज्ञान मंथन (वीवीएम) एक मील का पत्थर साबित होगा। इसमें देश के प्रमुख वैज्ञानिक और शिक्षाविद भी केंद्र सरकार को सहयोग देंगे। इस एप्प को गूगल प्ले से इंस्टाल किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि आज बड़ी ही खुशी का दिन है| यह विज्ञान के प्रति युवाओं का रुझान भी बढ़ाएगा। इससे डिजिटल तकनीक को बढ़ावा मिलेगा। इस एप्प के माध्यम से नई सोच को विकसित करने में अहम सफलता मिलेगी। नए युग के डिजिटल इंडिया के रूप में यह परीक्षा ऑनलाइन कराई जाएगी। छात्र परीक्षा डिजिटल उपकरणों जैसे मोबाइल, टैबलेट, लैपटॉप और डेस्कटॉप आदि के माध्यम से दे सकेंगे। अल्फोन्स से पूछे गए एक सवाल के जवाब में बताया कि रजिस्ट्रेशन विद्यालयों के माध्यम से होंगे ।

कार्यक्रम में रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को भी विस्तार से बताया गया। 2000 सेंटर पर 91 हजार लोगों ने रजिस्ट्रेशन किया है । देशभर के 1900 केंद्रों पर होने वाली इस परीक्षा में एक लाख से ज्यादा छात्र हिस्सा लेंगे। एप लांच के मौके पर 200 छात्रों ने वीवीएम एप का इस्तेमाल करते हुए ऑनलाइन परीक्षा के डेमो के रूप में मॉक टेस्ट दिया।

महिला एशिया कप हॉकी : भारत ने सिंगापुर को 10-0 से हराया

सभी पंजीकृत छात्रों को 26 नवंबर को होने वाली फाइनल परीक्षा के लिए एप से अपना परिचय बढ़ाने के लिए मॉक टेस्ट देना जरूरी होगा। इस टेस्ट के आयोजन में मानव संसाधन विकास विभाग के तहत आने वाले राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की ओर से भी सहयोग दिया जाएगा।

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here