लखनऊ। महाराष्ट्र के पुणे में हुई जातीय हिंसा के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट किया गया है। कार्यवाहक पुलिस महानिदेशक आनन्द कुमार ने सभी जिले के पुलिस अधीक्षकों को चौकन्ना रहने के निर्देश दिये हैं। साथ ही संवेदनशील व अतिसंवेदनशील क्षेत्र में पुलिस गश्ती को बढ़ाने को कहा है।

इसे भी पढ़ें: इन्फोसिस के नए सीईओ ने संभाला कार्यभार

उन्होंने कहा कि इस समय महाराष्ट्र के पुणे में हालात काफी गम्भीर हैं। जातीय हिंसा का असर अब महाराष्ट्र के अलावा अन्य राज्यों में भी देखा जा रहा है। राज्य के अन्य जिलों में तनाव का माहौल बना है। इन सबके मद्देनजर रखते हुए उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है। जिले के सभी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक को अलर्ट किया जा चुका है।

इसे भी पढ़ें: आईटीटीएफ की ताजा रैंकिंग में 49वें स्थान पर पहुंचे जी साथियान

खास तौर से उन जिलों को अधिकारियों को किया जो संवेदशील और अतिसंवदेनशील में आते हैं। निर्देशानुसार जिले में अगर किसी भी प्रकार की ऐसी गतिविधियां देखी जाये तो वहां के जिम्मेदार अधिकारी फौरन एक्शन लें। प्रदेश में कानून व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए जिले के थाना पुलिस इलाकों गश्त करें। एक से ज्यादा अधिक व्यक्तियों को किसी भी स्थान पर न खड़ा किया जाये। सोशल मीडिया के व्हाटसअप, फेसबुक और ट्विटर पर विरोध करने वाले मैसेज व वीडियों को न भेजा जाये। सर्विलांस और आईटी की टीम अपनी नजर बनाये रखे कि अगर कोई ऐसा करता हुआ पाये जाता हैं तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाये।

पुलिस महानिदेशक के पीआरओ ने बताया कि इस सम्बन्ध में अभी तो सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को फोन करके सूचित किया जा चुका है तथा मुख्यालय से देर शाम निर्देश जारी कर दिया जायेगा। 

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here