नई दिल्ली। पुलिस की चेतावनी के बावजूद नव वर्ष का जश्न मनाने के दौरान लोगों ने जमकर यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाई। पूरी दिल्ली में मुस्तैदी से तैनात यातायात पुलिस ने इस दौरान कुल 16730 चालान किए। शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों की संख्या भी करीब दोगुनी हो गई। यातायात पुलिस ने 1752 लोगों को शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा। चालान के साथ ही इनके लाइसेंस निलंबित कर दिए गए हैं।

इसे भी पढ़ें: सोनिया नहीं होगी रिटायर, बनी रहेगी सीएलपी-यूपीए अध्यक्ष पद पर

यातायात पुलिस के विशेष आयुक्त दीपेन्द्र पाठक के अनुसार राजधानी में 433 जगहों पर लोकल पुलिस व पीसीआर के साथ यातायात पुलिस को तैनात किया गया था। इनमें से 125 जगहों पर मौजूद टीम के पास एल्कोमीटर थे, जिससे वाहन चालकों की जांच की गई। इस दौरान यातायात पुलिस को रात 12 बजे तक 745 ऐसे लोग मिले, जो शराब पीकर गाड़ी चला रहे थे। वहीं रात 12 बजे से सोमवार तड़के तक 1007 लोग शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए मिले।

इसे भी पढ़ें: सियासी जमीन पर रजनीकांत का ‘लुंगी डांस

इन लोगों का चालान करने के साथ ही लाइसेंस को निलंबित भी किया गया है। कई मामलों में पुलिस ने गाड़ी को भी जब्त कर लिया। पुलिस के अनुसार शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले 90 फीसदी युवा हैं। शराब पीकर सबसे अधिक गाड़ी चलाने के मामले दक्षिण रेंज में सामने आए। वहां 362 ऐसे लोगों के चालान किए गए। नेल्सन मंडेला मार्ग की टीम ने सबसे ज्यादा 82 वाहन चालकों को पकड़ा, जो शराब के नशे में थे।

इसे भी पढ़ें: उप्र में जल्द ही एक बार फिर बढ़ेगी चुनावी सरगर्मी

सबसे कम शराब पीकर गाड़ी चलाने के मामले बाहरी दिल्ली में देखने को मिले। वर्ष 2016 में यातायात पुलिस ने कुल 13260 वाहन चालकों के चालान किए गए थे। इनमें से शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले 889 लोग शामिल थे। इस वर्ष यातायात के अन्य नियमों को तोड़ने में तेज रफ्तार से गाड़ी चलाने वाले 193, खतरनाक ढंग से गाड़ी चला रहे 507, बिना हेलमेट पहनकर दोपहिया चला रहे 3665 और वन-वे में गाड़ी चला रहे 1125 लोगों को चालान किया गया। 

Advertisement
Nokia
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here